मौलिक ज्ञान

विज्ञान क्या प्रयोगशालाओं तक ही सीमित है ? विज्ञान की क्या परिभाषा है ?

 वैज्ञानिक यह स्वीकार करते हैं, कि वे अपनी लैबोरेटरी के द्वारा र्इश्वर को सिद्ध नहीं कर सकते। किन्तु इससे यह निष्कर्ष नहीं निकलता कि र्इश्वर है ही नहीं। अभी तक वे जीवात्मा को भी लैबोरेटरी में सिद्ध नहीं कर सके किन्तु व्यवहार में जन्म और मृत्यु को मानते हैं। दिन-प्रतिदिन सूक्ष्म पदाथॅॉं की खोजें हो रही हैं, जो पहले नहीं हुर्इ थी। इसका अभिप्राय यह नहीं है कि वे पदार्थ अस्तित्व में ही नहीं थे।